GPS क्या है और GPS का फुल फॉर्म क्या है? जानिए जीपीएस के इतिहास के बारे में पूरी जानकारी

GPS क्या है, जीपीएस क्या होता है और जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है? आप लोगो ने बचपन मे अपने दादा दादी से सुना होगा कि प्राचीन समय में लोग तारो को देखकर दिशा तय करते थे. और आप में से  कुछ लोगो ने Discovery channel में यह भी देखा होगा कि कुछ पक्षी और जानवर भी पृथ्वी की चुम्बकीय क्षेत्र को फॉलो करके अपनी गंतव्य पर जाते है. इसी तरह जीपीएस भी है. हम भी जीपीएस को फॉलो करके कही भी जा सकते है. दोस्तों मै यहा पर उसी जीपीएस कि बात कर रहा हु जो हमारे smartphones में प्रयोग होता है. तो चलिए जानते है जीपीएस क्या है -What is GPS in Hindi

जीपीएस का इतिहास – History of GPS in Hindi

GPS क्या है

जीपीएस क्या है (What is GPS in Hindi) और जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है इस बारे में जानने से पहले इसके इतिहास के बारे में जान लेते है. वर्ष 1957 में सोवियत यूनियन ने संसार का पहला उपग्रह स्पुतनिक (Sputnik) अन्तरिक्ष में छोड़ा था उसके बाद MIT(USA) के वैज्ञानिकों ने देखा कि जब वो उपग्रह अन्तरिक्ष में अमेरिका के पास से गुजरता था तो उसके द्वारा भेजा गया रेडियो सिग्नल की फ्रीक्वेंसी बढ़ जाती थी और जब उपग्रह दूर जाता था तो फ्रीक्वेंसी कम हो जाती थी और ऐसा डॉप्लर प्रभाव (Doppler Effect) के कारण हो रहा था. यही एक विचार ने जीपीएस का आधार बना वैज्ञानिको को लगा कि उपग्रह द्वारा भेजे गए फ्रीक्वेंसी से उपग्रह की लोकेशन का पता चल सकता है और जो इस फ्रीक्वेंसी को रिसीव करेगा उससे रिसीवर का पता चल सकता है. 

और तब 1960 के आस पास USA navy ने एक प्रयोग किया था. यह प्रयोग US Navy की सबमरीन को ट्रैक करने के लिए था. बाकि इतिहास आप ऊपर के फोटो में पढ़ सकते है. जीपीएस में कम से कम 24 सैटेलाइट होते है और 5-6 अतिरिक्त सैटेलाइट होते है. नीचे लिखे गए पोस्ट को पढ़ कर आपको समझ आ जायेगा कि जीपीएस क्या होता है?

GPS क्या है – What is GPS in Hindi? 

जीपीएस अन्तरिक्ष आधारित उपग्रह पथ प्रदर्शन प्रणाली है जो उपयोग कर्ता को पृथ्वी पर किसी भी मौसम में उसकी स्थिति पता लगाने में सहायक होता है. यह उपयोगकर्ता कही भी हो सकता है चाहे हवा जमीन या फिर आकाश में. यह 24 घंटे काम करता है.

जीपीएस का फुल फॉर्म- GPS full form in Hindi

जीपीएस का फुल फॉर्म Global positioning system (ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम) – भूमंडलीय स्थिति निर्धारण प्रणाली है. 

Constellation क्या है ?

उपग्रहों (Satellite) का समूह जो हमें लोकेशन ( स्थिति ) की जानकारी देता है उन्हें constellation कहते है.

जीपीएस कैसे काम करता है ?

जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके है कि जीपीएस क्या है. अब हम आपको सबसे आसान भाषा में बताएँगे कि GPS काम कैसे करता है. जीपीएस की अधिकारिक वेबसाइट के अनुसार 30 नवम्बर 2020 तक जीपीएस में 30 Working Satellites है. जो पृथ्वी का 24 घंटे चक्कर लगा रहे है. हमें हमेशा पता होता है कि ये सारे satellite अंतरिक्ष में कहा पर है। क्योकि ये पृथ्वी पर राडार को signal भेजते रहते है. हमारे smartphone में GPS receiver होता है जो इन signals को पकड़ता रहता है.और जब यह Receiver अपनी दूरी उन तीन या तीन से अधिक satellite से कैलकुलेट कर लेता है तो उसी स्थान पर हम होते है.

जीपीएस क्या काम करता है?

जीपीएस उपग्रहों की सहायता से किसी भी वस्तु का पता लगाने का काम करता है चाहे वो वस्तु स्थिर हो या फिर गतिशील.

जीपीएस का उपयोग कैसे करें- GPS tracking?

GPS क्या होता है ये तो आपने जान लिया.अब GPS का उपयोग भी जान लेते है. जीपीएस का सबसे जरुरी उपयोग किसी (इंसान,पर्यटन स्थल, शहर) की लोकेशन पता करने के लिए होता है. 

  • सबसे पहले मोबाइल में जीपीएस को ओन करे 
  • मोबाइल में गूगल मैप ओपन करे
  • सर्च बॉक्स में उस शहर या स्थान का नाम लिखे और इंटर करे आपके सामने वहा जाने का रास्ता दिख जायेगा
  • स्वयं की लोकेशन देखने के लिए आपको गूगल मैप में नीले रंग का गोला दिखाई देगा वही आपकी लोकेशन होगी
  • जीपीएस में आप अपनी यात्रा का इतिहास भी देख सकते है और पसंदीदा जगहों को सेव भी कर सकते है ताकि वहा दोबारा जाना चाहे तो जा सके

जीपीएस का अन्य उपयोग है – सैन्य सेवाए, जिओमैपिंग, मनोरंजन, मेडिकल सेवाओं में, स्मार्टफोन, स्मार्ट वाच, आपातकालीन सेवाओ, IOT(internet of things) इस विषय के बारे में अलग से बताऊंगा) इत्यादि.

ये भी पढ़े

निष्कर्ष: GPS क्या है

तो आज आपने इस पोस्ट GPS क्या है हिंदी में (What is GPS in Hindi) में जाना कि जीपीएस का मतलब क्या होता है और जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है और आपको ये भी समझ आ गया होगा कि GPS टेक्नोलॉजी, संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) की है. इसका लाभ इस समय लगभग सब देश उठा रहे है.

मुझे पूरी उम्मीद है कि जीपीएस क्या है हिंदी में पोस्ट आपको अच्छे से समझ आ गयी होगी और अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा हो तो कृपया करके इसे सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सअप्प, ट्विटर आदि पर शेयर जरुर करिए.

इस तरह की और जानकारी के लिए आप हमारे Tech, Google products और Internet केटेगरी को भी देख सकते है और हमारे फेसबुक, Quora और ट्विटर पेज को भी फॉलो कर सकते है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

₹5,999 वाला Nokia C01 plus ₹15,000 के अन्दर शानदार 5G स्मार्टफोन ₹ 7,000 तक के बेस्ट स्मार्टफोन ₹ 25,000 तक के बेस्ट स्मार्टफोन ₹ 20,000 तक के बेस्ट कैमरा फोन ₹ 10,000 तक के सैमसंग के बेस्ट फोन ₹ 10,000 तक के बेस्ट स्मार्टफोन ₹ 10,000 तक के नोकिया के बेस्ट फोन स्मार्टफोन्स पर बंपर छूट मिस किया तो पछताना पड़ेगा ! स्मार्टफोन की बेहद आसान ट्रिक्स शानदार 5G कनेक्टिविटी वाला सैमसंग का नया स्मार्टफोन शाओमी का सबसे पतला और हल्का 5G फोन व्हात्सप्प चैट एक्सपोर्ट या सेंड कैसे करे? विंडोज कंप्यूटर शॉर्टकट Key लिस्ट रेडमी दिवाली सेल पर Redmi 10 Series phones के प्राइस कम हुए मोस्ट पावरफुल प्रोसेसर वाला Realme GT बिट कॉइन को मान्यता देने वाला पहला देश El Salvador पेट्रोल प्राइस का सारा कच्चा चिट्ठा पावरफुल बैटरी वाला फोन Nokia G10 पावरफुल बैटरी वाला गेमिंग फोन – Poco F3 GT